जानकारीजोगिंदर नगर

आठ महीने बाद जोगिंद्रनगर रेलवे स्टेशन पहुँची रेलगाड़ी, अभी नहीं मिल रहे यात्री

जोगिंद्रनगर: आठ महीने के लंबे अंतराल के बाद यात्रियों को पठानकोट से जोगिंद्रनगर तक रेलगाड़ी की सुविधा मिली है। 26 जनवरी को ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन जोगिंद्रनगर (Historical Railway Station Joginder Nagar) में यह रेलगाड़ी पहुंची, लेकिन इसमें यात्री नहीं थे।

इधर, समय सारिणी में बदलाव होने के चलते अब बैजनाथ पपरोला से भी नूरपुर के सफर के लिए यात्रियों को तीन घंटे का इंतजार करना होगा। सुबह 10:30 बजे से बैजनाथ, पपरोला के लिए रवाना रेलगाड़ी का 12 बजे पहुंचना तय हुआ है जबकि नूरपुर के लिए बैजनाथ पपरोला से रेलगाड़ी का समय 3:00 बजे तय किया गया है।

26 जनवरी को सुबह 9:50 पर रेलवे स्टेशन पहुंची रेलगाड़ी में एक भी यात्री नहीं था। 10:15 बजे पर बैजनाथ और पपरोला की वापसी में भी रेलगाड़ी में यात्री नहीं दिखे। रेलवे स्टेशन पहुंची रेलगाड़ी से स्टेशन में रौनक तो लौट आई है लेकिन अभी सफर के लिए यात्री नहीं मिल रहे हैं। बता दें कि इससे पहले गाड़ी जोगिंद्रनगर नहीं आती थी, जिससे यात्रियों को सुविधा नहीं मिल रही थी।

स्टेशन अधीक्षक रेलवे स्टेशन जोगिंद्रनगर रविंद्र रावत ने बताया कि बैजनाथ पपरोला से सुबह और दोपहर की रेलगाड़ी ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन जोगिंद्रनगर में पहुंचना शुरू हो चुकी है, लेकिन अभी तक सफर के लिए यात्रियों की अधिक संख्या देखने को नहीं मिल रही है।

जोगिंद्रनगर तक दौड़ेगा उच्च क्षमता वाला नया इंजन

ऐतिहासिक रेलवे ट्रैक के जीर्णोद्धार पर करोड़ों रुपये खर्च किए गए हैं। अब उच्च क्षमता वाले नए इंजन के साथ रेलगाड़ियां जोगिंद्रनगर तक पहुंचेंगी। इससे रेलगाड़ी की स्पीड में इजाफा होगा तथा यात्रियों का सफर भी सुरक्षित और सुगम बनेगा। नए इंजन का ट्रायल भी सफल हो चुका है ।

Hi, I’m ankit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *